fusebulbs.com
Republic day poem

हवा में फहरता जाए
मोरा झंडा तिरंगा खादी का
फर फर लहराये ,
मोरा झंडा तिरंगा खादी का |

तीन रंग संघर्ष ,शांति ,हरित क्र्न्ति दर्शाये
गोल चक्र के चौबीस खाने ,
सावधान कर जाए |
अमर शहीदो की गाथा की ,
हर पल याद दिलाये |
हवा में फहरता जाए
मोरा झन्डा तिरंगा खादी का |

भारत माँ को सदा नमन कर ,
फहर फहर फहराये |
आजादी की अमर कहानी
बार बार दोहराए |
लक्ष्य प्राप्ति का व्रत लेकर ,
देश भक्ति सिखलाये |
हवा में फहराता जाए ,
मोरा झन्डा तिरंगा खादी का |

आज सभी हम हाथ उठाकर ,कसम यही दोहराए |
सुरक्षित रहें सदा आजादी ,नम में ध्वज लहराये |
बलिदानी इतिहास का , पीढ़ी दर दोहराए |
हवा में फहराता जाए ,मोरा झंडा तिरंगा खादी का|

यह भी पढ़ें:-मंदी-प्रभाव -हिंदी कविता

One thought on “मोरा झन्डा तिरंगा खादी का – देशभक्ति कविता”

Leave a Reply

Your email address will not be published.